जानिए SSC CGL परीक्षा क्लियर करने के बाद की लाइफ कैसी होती है?

SSC CGL परीक्षा क्लियर करने के बाद की लाइफ

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) के माध्यम से सरकारी विभागों में ग्रेड-‘B ’और’ C’ के विभिन्न पदों की भर्ती के लिए हर साल CGL परीक्षा आयोजित करता है। पूरे भारत में UPSC के बाद SSC दूसरी पसंदीदा परीक्षा है क्योंकि इसमें सबसे ज्यादा कर्मचारी/ अधिकारी की भर्ती होती हैं। SSC CGL परीक्षा के लिए स्नातक किए हजारों युवा आवेदन करते हैं, जो सरकारी नौकरी और आकर्षक वेतन की उम्मीद करते हैं। SSC CGL के लिए आप में से कई लोग उत्सुक होंगे कि SSC CGL परीक्षा पास करने के बाद लाइफ कैसी होती है? हम आपको SSC CGL क्लियर करने के बाद के उम्मीदवारों के लाइफ का अनुभव बता रहे हैं। आइए इसपर एक नज़र डालते है।

SSC CGL परीक्षा क्लियर करने के बाद की लाइफ

सरकारी नौकरियों की तैयारी करने वाले अधिकांश उम्मीदवार प्रतिष्ठित SSC विभागों में एक अधिकारी, लेखा परीक्षक, लेखाकार के रूप में काम करने की इच्छा रखते हैं, लेकिन उनमें से कुछ ही इसके अंतिम सूची में आ पाते हैं। छात्रों के अनुभव के अनुसार, परीक्षा क्लियर करने के बाद उनकी लाइफ काफी बदल जाती है। आइए, इसके बारे में जानते हैं:

  • तनाव-मुक्त जिन्दगी: परीक्षा को क्लियर करने के बाद, छात्रों को एक प्रतिष्ठित सरकारी विभाग में नियुक्त होने से राहत मिलती है। सभी चिंता खत्म हो जाती है क्योंकि अब उनके पास एक टिकाऊ, सुरक्षित सरकारी नौकरी है जो वे वर्षों से चाहते हैं।
  • माता-पिता को गर्व: कई लोगों के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह होती है कि उनके माता-पिता, उनपर गर्व करें। SSC CGL को क्लियर करना, भारत के माता-पिता के लिए एक बड़ी बात है और वे आपके चयन की खबर सुनकर सबसे ज्यादा खुश होते हैं।
  • स्टेटस और सामाजिक में मान सम्मान: भारत में लोग सरकारी नौकरियों की मांग करते हैं क्योंकि सरकारी नौकरियां विशेष रूप से केंद्र सरकार की नौकरियों के साथ-साथ एक आकर्षक वेतन, नौकरी की स्थिरता और जॉब सिक्यूरिटी प्रदान करती हैं। सरकारी नौकरी प्राप्त करना, कोई आसन काम नहीं है, इसलिए जब कोई SSC CGL में भर्ती होता है, तो समाज में हर कोई उसे सम्मान देना शुरू कर देता है क्योंकि वह व्यक्ति सरकार के निर्णय लेने की प्रक्रिया का एक हिस्सा होता है।
  • आकर्षक वेतन: इसमें कोई संदेह नहीं है कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों का वेतन अन्य की तुलना में अधिक होता है। SSC CGL के माध्यम से भर्ती किए गए कर्मचारियों को दी गई स्वतंत्रता में अंतर भी देख सकते हैं।
  • खुद के लिए खाली समय: नियुक्त होने के बाद, SSC कर्मचारी आम तौर पर सप्ताह में 5 दिन, 9 से 5 बजे तक काम करते हैं। इसलिए, कोई भी व्यक्ति अपने और अपने परिवार के लिए आसानी से समय दे सकता है।
  • जिम्मेदार नागरिक: एक सरकारी कर्मचारी के रूप में, एक जिम्मेदारियां समझने के लिए आती है क्योंकि वे अब सरकार का हिस्सा होते हैं। इसलिए, यह उन्हें एक जिम्मेदार नागरिक बनाता है।

Click here for best SSC CGL mock tests, video course, live batches, books or eBooks

SSC CGL कर्मचारियों को मिलने वाले भत्ते और सुविधाएं

सभी SSC CGL कर्मचारी कई भत्तों और सुविधाओं को पाने के हकदार हैं जो उनके जीवन को आसान और आरामदायक बनाता है। SCC CGL के कर्मचारियों को
मिलने वाली सुविधाएं निम्नलिखित हैं:

  • परिवहन भत्ता: सभी केंद्रीय सरकारी कर्मचारी परिवहन भत्ते पाने के हकदार हैं। सरकार कर्मचारियों को उस स्थान की परवाह किए बिना परिवहन भत्ते प्रदान करती है जहां वे तैनात हैं।
  • LTC का लाभ: SSC CGL के माध्यम से भर्ती किए गए अधिकारी LTC का लाभ उठाते हैं। यह उन्हें एक निश्चित अवधि के बाद भारत के भीतर या बाहर यात्रा करने की अनुमति देता है। यह कर्मचारियों को अपने मन को ताज़ा करने और अपने जीवन की एकरसता को तोड़ने में सक्षम बनाता है।
  • ग्रेच्युटी का लाभ: ग्रेच्युटी वह लाभ है जो संगठन छोड़ने वाले कर्मचारियों को देय होता है। यह नियोक्ता द्वारा कर्मचारी को उसके रोजगार की अवधि के दौरान संगठन में प्रदान की गई सेवाओं के लिए भुगतान की गई राशि होती है। कोई कर्मचारी एक ही संगठन में अपनी सेवाओं के 5 साल पूरे करने के बाद ही ग्रेच्युटी लाभ के लिए दावा करने का पात्र है।
  • राष्ट्रीय पेंशन लाभ: सरकारी नौकरियों में शामिल होने का एक और लाभ यह है कि कर्मचारी स्वचालित रूप से राष्ट्रीय पेंशन योजना के लिए नामांकित हो जाते हैं। कर्मचारियों को उनकी पेंशन का हिसाब रखने के लिए एक कार्ड दिया जाता है। राष्ट्रीय पेंशन लाभ योजना के तहत, वेतन का एक निश्चित प्रतिशत NPS खाते में योगदान के रूप में घटा दिया जाता है। उसी राशि का नियोक्ता द्वारा NPS खाते में भी योगदान किया जाता है। जब कर्मचारी सेवानिवृत्त होता है, तो पेंशन केवल इस फंड से दी जाती है। इस प्रकार, SSC CGL के माध्यम से भर्ती होने से आपको पेंशन का लाभ मिलेगा।
  • चिकित्सा सुविधाएं: एक बार जब आप सरकारी नौकरी में शामिल हो जाते हैं, तो आपकी सभी चिकित्सा बिलों का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा। आप सरकार द्वारा समय-समय पर शुरू की गई चिकित्सा देखभाल योजनाओं के सदस्य बन जाते हैं।
  • पेड लीव बेनिफिट्स: यह सबसे आम कारणों में से एक यह है कि लोग निजी नौकरियों से अधिक सरकारी नौकरियों को क्यों पसंद करते हैं, क्योंकि सरकारी नौकरियों में, पेड लीव्स दी जाती हैं। आकस्मिक अवकास, विशेषअवकास, चिकित्सा अवकास, अर्जित छुट्टी और कई और अधिक छुट्टियाँ दी जाती हैं। यहां तक कि ऐसे प्रावधान भी हैं कि जब आप बिना छुट्टी के छुट्टी लेते हैं तो कोई कटौती नहीं होती है।

उपर्युक्त सभी भत्तों और लाभों के साथ, जीवन आरामदायक और आसान हो जाता है। यदि आप इस तरह के आसान जीवन का आनंद लेने के इच्छुक हैं तो आवेदन करने के लिए SSC CGL अधिसूचना देखें।

SSC CGL परीक्षा के अंतर्गत आने वाले विभिन्न पद

SSC CGL परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करना आसान काम नहीं है लेकिन यदि आप अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम हैं तो आपको एक बेहतर नौकरी मिलेगी। SSC CGL परीक्षा क्लियर करने के बाद, आपके लिए कई पद उपलब्ध हैं। उनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  1. इंस्पेक्टर (केंद्रीय उत्पाद शुल्क): इस प्रोफ़ाइल में, आपको उत्पादों को सील करने और निगरानी करने, करों की चोरी की पहचान करने और अन्य जब आप फील्ड में होते हैं, जैसे कार्यों को संभालना होगा। हालांकि, जब आपकी पोस्टिंग मुख्यालय में होती है तो आपको कई क्लर्क सम्बन्धी कार्य करने होंगे। इस नौकरी में अच्छा प्रदर्शन करने पर, यदि आप अन्य पात्रता मापदंडों को पूरा करते हैं तो आप निम्न पदों के लिए पदोन्नति के लिए आवेदन कर सकते हैं:
    1. आबकारी निरीक्षक(Excise Inspector)
    2. सहायक आयुक्त
    3. संयुक्त आयुक्त
    4. अपर-आयकर आयुक्त
    5. अप्प्रैजर/ अधीक्षक और उपायुक्त
  1. टैक्स असिस्टेंट (सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम्स): SSC CGL क्लियर करने के बाद, आप सेंट्रल असिस्टेंट ऑफ एक्साइज एंड कस्टम्स में टैक्स असिस्टेंट का पद पा सकते हैं, जिसके पास सीमित पावर है। कर सहायक, रिपोर्ट लिखने और भेजने के लिए जिम्मेदार होता है।
  2. टैक्स असिस्टेंट (सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्ट टैक्स): टैक्स असिस्टेंट द्वारा कर निर्धारण, लिपिकीय कार्य सहित कई कार्य किए जाते हैं। इस प्रोफ़ाइल में, निम्न पदों के लिए पदोन्नति की अधिक संभावनाएं हैं:
    1. उप-आयुक्त
    2. अप्प्रैजर/ अधीक्षक
    3. अपर-आयकर आयुक्त
    4. संयुक्त आयुक्त
    5. सहायक आयुक्त
  1. आयकर निरीक्षक (केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड): इस प्रोफाइल में, आपको या तो लिपिक कार्य करना होगा या कंपनी के आयकर का मूल्यांकन करना होगा।
  2. इंस्पेक्टर (एक्जामिनर) (सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम्स): SSC CGL में, इस पद के लिए सीमित रिक्तियां हैं। इस प्रोफाइल में, आप विभिन्न बंदरगाहों से गुजरने वाले उत्पादों पर लगाए गए करों का सत्यापन करने के लिए जिम्मेदार होंगे।

हम आशा करते हैं कि लेख ने आपको उन सवालों का जबाब दिया होगा जो आप SSC कर्मचारियों के जीवन के बारे में चाह रहे थे। कड़ी मेहनत करने और अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए आपको जो कुछ करना है, उसका समय है। यदि आप परीक्षा को क्रेक करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं तो आपको ये सभी लाभ मिल सकते हैं। हमारी ढेर सारी शुभकामनाएं!

Click here for Free Study Material For SSC Exams 2019-2021

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *