GA Notes :Notes on Mughal Dynasty (Part-I)

Dear Readers,


General Awareness is an equally important section containing same weightage of 25 questions in SSC CGL, CHSL, MTS exams and has an even more abundant importance in some other exams conducted by SSC.There are questions asked related to Polity. So you should know important facts related to Indian Polity so that you can score well in General Awareness section.

To let you make the most of GA section, we are providing important facts related to Indian Polity. Also, Railway Exam is nearby with bunches of posts for the interested candidates in which General Awareness is a major part to be asked for various posts exams. We have covered important notes focusing on these prestigious exams. We wish you all the best of luck to come over the fear of General Awareness section

MUGHAL DYNASTY
मुगल राजवंश


Babur (AD 1526-1530):
बाबर (1526-1530 ईसवीं):

Birth:1483,Fargana(Afganistan)
जन्म: 1483, फरगना (अफगानिस्तान)
Father:Umer sheikh Mirja
पिता: उमर शेख मिर्जा
Mother:Kutlug nigar( Mangol)
माता: कुतलूग निगार (मंगोल)

Facts:
तथ्य:
-Founder of Mughal empire
मुगल वंश के संस्थापक
-Introduced gunpowder in India
भारत में बारूद का पदार्पण करने वाला प्रथम व्यक्ति
-He wrote Tuzuk-i-Baburi (Autobiography of Babur) in the Turkish language.
उन्होंने तुर्की भाषा में तुज़ुक-ए-बाबुरी (बाबर की आत्मकथा) लिखी।
-Babur declared Jehad and adopted the title, Ghazi(After the Khanva War)
बाबर ने जेहाद की घोषणा की और गाज़ी की उपाधि धारण की (खानवा युद्ध के बाद)
-According to  Tuzuk-i-Baburi, Babur Died in 1530 in Lahore and buried at Aram Bagh (Agra).
तुज़ुक-ए-बाबुरी के अनुसार, लाहौर में 1530 में बाबर की मृत्यु हो गई और उसे आराम बाग (आगरा) में दफनाया गया।
-Later his body was taken to Afghanistan (Kabul).
उसके शरीर को अफगानिस्तान (काबुल) ले जाया गया था।

Battles:
लड़ाई:
-Defeated Ibrahim Lodhi in the First Battle of Panipat (AD 1526)
पानीपत की पहली लड़ाई में इब्राहिम लोदी को पराजित किया (1526 ईसवीं)
-Defeated Rana Sanga (Sangram Singh) at Battle of Khanwa (AD 1527)
खानवा की लड़ाई में राणा संगा (संग्राम सिंह) को पराजित किया (1527 ईसवीं)
-Defeated Medini Rai of Chanderi at Battle of Chanderi (AD 1528)
चंदेरी की लड़ाई में चंदेरी के मेदिनी राय को पराजित किया(1528 ईसवीं)
-Defeated Mahmud Lodi at Battle of Ghagra (AD 1529) (Last war of the Babur)
घाघरा की लड़ाई में महमूद लोदी को पराजित किया (1529 ईसवीं) (बाबर का अंतिम युद्ध)



Humayun (AD 1530-1556)
हुमायूं (1530-1556 ईसवीं)

Born:6 March 1508,Kabul (present-day Afghanistan)
जन्म: 6 मार्च 1508, काबुल (वर्तमान में अफगानिस्तान में स्थित )
Father:Babur
पिता: बाबर
Mother:Maham Begum
माता: माहम बेगम
Died:27 January 1556 (aged 47),Delhi
मृत्यु: 27 जनवरी 1556 (47 वर्ष की आयु में), दिल्ली


Facts:
तथ्य:
-Built Dinpanah at Delhi as his second capital.
अपनी दूसरी राजधानी दिल्ली में दीनपनाह का निर्माण किया
-Humayun passed 15 years in exile
हुमायूं ने 15 वर्ष निर्वासन में बिताये
-Again invaded India in 1555 with the help of his officer Bairam Khan.
पुनः अपने अधिकारी बैरम खान की सहायता से 1555 में भारत पर आक्रमण किया
-Gulbadan Begum, Humayun’s half-sister wrote Humayun-nama(Biography of Humayun).
हुमायूं की बहन, गुलबदन बेगम ने हुमायूं-नामा (हुमायूं की जीवनी) लिखी

Battles:
लड़ाई:
Two battles with Sher Shah Suri-
शेर शाह सूरी के साथ दो लड़ाई
-Battle of Chausa (AD 1539)
चौसा की लड़ाई (1539 ईसवीं)
-Battle of Kannauj (AD 1540)
कन्नौज की लड़ाई (1540 ईसवीं)


Akbar (AD 1556-1605)
अकबर (1556-1605 ईसवीं)

Born:15 October 1542,Umerkot
जन्म: 15 अक्टूबर 1542, अमरकोट
Father:Humayun
पिता: हुमायूं
Mother:Hamida Banu Begum
माता: हामिदा बानू बेगम
Died:27 October 1605 (aged 63),Fatehpur Sikri, Agra
मृत्यु: 27 अक्टूबर 1605 (63 वर्ष की आयु में), फतेहपुर सीकरी, आगरा

Facts:
तथ्य:
-Coronated at the young age of 14 by Bairam Khan
14 वर्ष की छोटी आयु में बैराम खां द्वारा राज्याभिषेक
-Buland Darwaza was constructed at Fatehpur Sikri after victory over Gujarat in AD 1572.
1572 ईस्वी में गुजरात पर विजय के बाद फतेहपुर सीकरी में बुलंद दरवाजा का निर्माण किया गया था।
-Married to Harkha Bai, daughter of Rajput ruler Bharmal
राजपूत शासक भारमल की बेटी हरखा बाई से विवाह
-Ralph Fitch (in AD 1585) was the first Englishman to visit Akbar’s court.
राल्फ़ फिच (1585 ईसवीं में) अकबर के दरबार में आने वाले पहले अंग्रेज थे।
-Abolished Jaziyah (AD 1564)
जजिया कर की समाप्ति (1564 ईसवीं)
-Believed in Sulh-i-Kul (peace to all)
सुलह-ए-कुल में विश्वास (सभी के लिए शांति)
-Built Ibadat Khana (Hall of prayer) at Fetehpur Sikri
फतेहपुर सिकरी में इबादत खाना (प्रार्थना का हॉल) का निर्माण करवाया
-Issued ‘Decree of Infallibility (AD 1579)
अभ्रांतता की राज्यादेश जारी किया (1579 ईसवीं)
-Formulated religious oder Din-i-Ilahi (AD 1582)
धार्मिक संहिता दीन-ए-इलाही शुरू की (1582 ईसवीं में)
-Land revenue system was called Todar Mal Bandobast or Zabti System measurement of land, classification of land and fixation of rent
भूराजस्व प्रणाली को टोडर मल बंदोबस्त या ज़ाबती प्रणाली कहा जाता था, भूमि का वर्गीकरण और लगान का निर्धारण किया गया
-Introduced Mansabdari System (holder of rank) to organise nobility and army.
अधिकारीयों और सेना को संगठित करने के लिए मनसबदारी प्रथा (रैंक धारक) की शुरुआत की
-The Navratnas included Todar Mal, Abul Fazal, Faizi, Birbal, Tansen, Abdur Rahim Khana-i-Khana, Mullah-do-Pyaza, Raja Man Singh and Fakir Aziao-Din.
अकबर के नवरत्नों में टोडर मल, अबुल फजल, फैजी, बीरबल, तानसेन, अब्दुर रहीम खाना-ए-खाना, मुल्ला-दो-प्याज़ा, राजा मान सिंह और फकीर अजीआओ-दीन शामिल थे।

Battles:
लड़ाई:
-Defeated Hemu at the Second Battle of Panipat (AD 1556)
पानीपत की दूसरी लड़ाई में हेमू को हराया (1556 ईसवीं)
-Conquered Malwa (AD 1561) defeating Baz Bahadur
1561 में बाज़ बहादुर को हरा कर मालवा को जीता
-Followed by-Garh-Katanga (ruled by Rani Durgawati),Chittor (AD 1568), Ranthambhor and Kalinjar (AD 1569), Gujarat (AD 1572), Mewar (Battle of Haldighati, AD 1576 Akbar and Rana Pratap), Kashmir (AD 1586), Sindh (AD 1593) and Asirgarh (AD 1603).
इसके बाद गढ़-कटंगा (रानी दुर्गावती द्वारा शासित), चित्तौड (1568 ईसवीं), रणथंभौर और कलिनजर (1569 ईसवीं), गुजरात (1572 ईसवीं), मेवाड़ (हल्दीघाटी की लड़ाई, 1576 ईसवीं अकबर और राणा प्रताप), कश्मीर (1586 ईसवीं), सिंध (1593 ईसवीं) और असिरगढ़ (1603 ईसवीं) के युद्ध शामिल हैं।










                                                   

No comments